यूएई के मोहम्मद अली राशिद अलवर ने किए भगवान तुंगनाथ के दर्शन, चढ़ाई ये खास भेंट

0

संयुक्त अरब अमीरात (यूएई) के क्राउन प्रिंस शेख खलीफा बिन जाएद अल नाहयान के प्रतिनिधि मोहम्मद अली राशिद अलबार ने शनिवार को तृतीय केदार भगवान तुंगनाथ में दर्शन किए। उन्होंने मंदिर में हवन व पूजा-अर्चना कर चांदी की छड़ी व छत्र भी चढ़ाया। अली राशिद तुंगनाथ व चोपता के नैसर्गिक सौंदर्य से अभिभूत नजर आए और बोले कि तुंगनाथ के प्रति उन्हें अगाध आस्था है।

मोहम्मद अली राशिद अलवर शनिवार को दिल्ली से चार्टर्ड हेलीकॉप्टर के जरिये सीधे ऊखीमठ पहुंचे। यहां राजकीय इंटर कॉलेज में बने हेलीपैड पर श्री बदरीनाथ-केदारनाथ मंदिर समिति के पदाधिकारियों ने उनकी आगवानी की। इसके बाद वह कार से सीधे चोपता और फिर घोड़े से तीन किमी की खड़ी चढ़ाई तय कर तुंगनाथ धाम पहुंचे। जिला प्रशासन के पास अली राशिद का कार्यक्रम देहरादून होते हुए तुंगनाथ पहुंचने का था, लेकिन वह सीधे दिल्ली से तुंगनाथ पहुंच गए।

एसडीएम ऊखीमठ परमानंद ने बताया कि तुंगनाथ के नैसर्गिक सौंदर्य से अली राशिद अभिभूत नजर आए। इस खुशी का इजहार उन्होंने साथ में मौजूद प्रशासन व पुलिस की टीम से किया। तुंगनाथ धाम में पुजारी गीताराम मैठाणी ने दो घंटे तक अली राशिद की विशेष पूजा संपन्न कराई। इस दौरान तुंगनाथ में भंडारे का आयोजन भी किया गया, जिसमें अली राशिद ने पहाड़ी पकवान अरसे व पकौडिय़ों का लुत्फ लिया। अरसे की तो उन्होंने खुले दिल से तारीफ भी की। शाम लगभग साढ़े पांच बजे वह तुंगनाथ से ऊखीमठ लौटे और फिर सीधे दिल्ली के लिए रवाना हो गए। इस दौरान उनके साथ थानाध्यक्ष सुबोध कुमार ममगाईं समेत अन्य कर्मचारी भी मौजूद थे।

क्राउन प्रिंस के प्रतिनिधि अली राशिद के लाइजनिंग ऑफीसर मोहित उनियाल ने बताया कि अली राशिद 829.8 मीटर ऊंची दुनिया की सबसे ऊंची इमारत बुर्ज खलीफा और द दुबई मॉल के डेवलपर भी हैं। उनकी गिनती यूएई के नामी रियल इस्टेट कारोबारियों में होती है। इसके अलावा उनकी गुरुग्राम (हरियाणा) में भी एक कंपनी है। कंपनी के कर्मचारी अक्सर तुंगनाथ आया करते हैं। बताया कि वह अपने मैनेजर के साथ बाबा के दर्शनों को आए थे।

loading...