हिमाचल की तरफ जा रही कार अनियंत्रित होकर शक्तिनहर में समाई, नहीं मिली कोई जानकारी…

0

विकासनगर स्थित धर्मावाला चौक से हिमाचल की तरफ जा रही कार मटक माजरी तिराहे के पास अनियंत्रित होकर शक्तिनहर में जा गिरी। सूचना पर पहुंची पुलिस ने घटनास्थल पर रेस्क्यू अभियान चलाया, लेकिन कार का कोई सुराग नहीं मिल सका। कार में कितने लोग सवार थे और वह कहां की थी, इसके बारे में भी अभी तक कुछ पता नहीं चल पाया है। अब एसडीआरएफ वाटर ड्रोन की मदद से कार को सर्च करेगी।

एसएसआई गिरीश नेगी के मुताबिक मंगलवार दोपहर यह हादसा हुआ। कार किसकी है और उसमें कितने लोग सवार थे, इसका पता लगाया जा रहा है। घटनास्थल पर मौजूद लोगों से पूछताछ में पता लगा कि कार सफेद रंग की थी और गिरने से पहले उसमें सवार लोगों ने खिड़की खोलने की कोशिश भी की।

इससे लगता है कि कार में चालक के अलावा अन्य लोग भी रहे होंगे। मौके पर एसडीआरएफ और स्थानीय गोताखोरों ने छह घंटे तक सर्च आपरेशन चलाया और करीब तीन सौ मीटर दूरी तक नहर में कई बार कांटे डाले गए। इसके बावजूद सफलता नहीं मिल पाई।

रेलिंग के आखिरी छोर को छूकर नहर में चली गई कार 

मटकमाजरी तिराहे पर शक्तिनहर एकदम सामने आ जाने के कारण यहां सुरक्षा की दृष्टि से काफी दूर तक नहर किनारे को लोहे की रेलिंग लगाई गई है। जिस स्थान पर यह रेलिंग समाप्त होती है, ठीक उसी जगह से कार का नहर में समा जाना आश्चर्यचकित कर देने वाला है।

घटनास्थल के हालात से यह अनुमान लगाया जा रहा है कि धर्मावाला की ओर से तेज गति से आ रही कार को चालक ने काफी स्पीड के साथ आसन बैराज को जाने वाली रोड पर घुमा दिया।स्पीड ज्यादा होने के कारण वह कार को नियंत्रित नहीं कर पाया और कार पूरा मोड़ काटने के बाद नहर की तरफ घूम गई।

लोगों को जो बात अचरज में डाल रही है, वह यह है, कार रेलिंग के आखिरी पोल को छूते हुए नहर में समा गई। यदि कार एक इंच पहले भी नहर की ओर घूम जाती तो रेलिंग से टकरा जाती और कार नहर में जाने से बच जाती, लेकिन होनी को कौन टाल सकता है।

घटनास्थल से काफी दूर किसी महिला ने देखा हादसा

मटकमाजरी तिराहे पर हुई कार के नहर में समा जाने की घटना को मटकमाजरी गांव की किसी महिला ने काफी दूर से देखा। बताया यह जा रहा है कि घटना के समय महिला काफी दूर नहर किनारे बनी सड़क से कहीं जा रही थी। कार को नहर में गिरती देख महिला ने शोर मचाया तो गांव के लोग इकट्ठा होकर घटनास्थल की ओर दौड़े।

उन्होंने पुलिस को सूचना दी, जिसके कुछ ही समय बाद विकासनगर कोतवाली की पुलिस व जल पुलिस की टुकड़ी ने यहां पहुंचकर रेस्क्यू अभियान शुरू कर दिया।

दुर्घटना स्थल पर बहुत गहरी है नहर

मटक माजरी तिराहे के समीप जिस जगह पर कार नहर में समाई, वहां काफी गहराई है। शक्तिनहर की गहराई ज्यादा होने के कारण एसडीआरएफ व जल पुलिस को रेस्क्यू अभियान चलाने में काफी मशक्कत का सामना करना पड़ा। जिस स्थान पर कार नहर में गिरी उस जगह नहर लगभग चालीस फिट गहरी होने का अनुमान है।

आसन बैराज से ढालदार तरीके से बनाई गई पावर चैनल शक्तिनहर में दुघर्टनास्थल के पास पानी का बहाव भी बेहद ज्यादा है। इससे यह अनुमान भी लगाया जा रहा है कि नहर में गिरने के बाद कार पानी के अंदर बह कर काफी आगे निकल गई होगी।

 

loading...