बिहार: AES पर नाकामी के चलते, विपक्ष मंगल पांडे के इस्तीफ़े की मांग लेकर धरने पर बैठा

0

बिहार: मंगलवार को एक्यूट इंसेफेलाइटिस सिंड्रोम (AES) का गम्भीर मुद्दा बिहार विधानमंडल के मॉनसून सत्र के तीसरे दिन फिर विधानसभा में उठा। सदन के बाहर और अंदर स्वास्थ्य मंत्री मंगल पांडेय के इस्तीफे की मांग करते हुए विपक्षी दलों ने खूब हंगामा किया। हंगामे के कारण सदन की कार्यवाही दो बजे तक के लिए स्थगित कर दी गई।


क्या हुआ था बिहार में, यहाँ जाने- बिहार: 14वां दिन, 86 मासूमों की मौत… जिम्मेदार कौन?


न्यूज एजेंसी आईएएनएस के अनुसार, बिहार विधानसभा की कार्यवाही प्रारंभ होने के पूर्व सदन के बाहर भाकपा-माले के विधायकों ने बैनर-पोस्टर लेकर जमकर हंगामा किया और नारेबाजी की। इसके बाद जब सदन की कार्यवाही प्रारंभ हुई तब सदन के अंदर राजद के सदस्यों ने भारी हंगामा शुरू कर दिया।

विधानसभा अध्यक्ष विजय कुमार चौधरी ने सदस्यों से सदन की कार्यवाही चलने देने की अपील की, लेकिन सदस्य स्वास्थ्य मंत्री के इस्तीफे की मांग करते हुए हंगामा करते रहे। इसके बाद विधानसभा अध्यक्ष ने सदन की कार्यवाही दो बजे तक के लिए स्थगित कर दी।

बिहार स्वास्थ्य मंत्री मंगल पांडे

गौरतलब है कि AES के मुद्दे पर सोमवार को सदन में स्वास्थ्य मंत्री मंगल पांडेय और खुद मुख्यमंत्री नीतीश कुमार सरकार की ओर से जवाब दे चुके हैं। बिहार के मंत्री और भाजपा के नेता नंदकिशोर यादव ने कहा कि राजद बच्चों की मौत पर राजनीति कर रही है। बच्चों की मौत का सभी लोगों को दुख है।

राजद के विधायक भाई वीरेंद्र ने कहा कि स्वास्थ्य मंत्री के कारण राज्य की कई मांओं की गोद सुनी हुई हैं। ऐसे में उनका मंत्रिमंडल में बने रहना सही नहीं है।

loading...