अमरनाथ यात्रा से पहले अनंतनाग में बढ़े आतंकी हमले, एक हफ्ते के भीतर 7 जवान शहीद

0

1 जुलाई से अमरनाथ यात्रा का आगाज होने जा रहा है। इसी बीच, कैबिनेट में भी बड़ा बदलाव हुआ है। गृह मंत्रालय का प्रभार अमित शाह को मिला है। सर्वविदित है कि जब से गृह मंत्रालय जैसा अहम मंत्रालय का प्रभार शाह को मिला है। ठीक, तब से ही इस बात की चर्चा तेज हो गई कि इस बार अमरनाथ यात्रियों की सुरक्षा भी शाह की जिम्मे ही आएगी। लेकिन, बड़े अफसोस की बात रही की अमरनाथ यात्रा शुरू होने से पहले ही आतंकियों ने कई हमले किए जिसमें हमारे 7 जवान शहीद हो गए। जो सुरक्षाबलों के लिए लगातार चिंता का विषय बना हुआ है।

सुरक्षाबलों की जिम्मेदारी बढ़ी
अमरनाथ यात्रा से पहले अनंतनाग में हुआ हमला, सुरक्षाबलों की जिम्मेदारी बढ़ाता हुआ नजर आ रहा है। सुरक्षाबलों के पास सबसे बड़ी चुनौती है कि कैसे भी हो अमरनाथ यात्रियों की सुरक्षा सुनिश्चित की जाए। क्योंकि, एक सप्ताह पहले ही हुए आतंकी हमले में सीआरपीएफ के पांच जवान शहीद हुए थे। गौरतलब है कि अनंतनाग अमरनाथ यात्रा के लिए सबसे महत्वपूर्ण प्वाइंट है। यहीं से पहलगाम रूट शुरू हो जाता है, जबकि बालटाल रूट के लिए अनंतनाग से श्रीनगर की तरफ काफिला बढ़ता है।

इसके साथ ही अनंतनाग एक ऐसा क्षेत्र है, जहां पर आतंकवादी सहित पत्थरबाज काफी अधिक संख्या में सक्रिय रहते हैं। वहीं, अनंतनाग एक ऐसा इलाका हैं, जहां पर सुरक्षाबलों का विरोध करने वाले लोगों की संख्या भी काफी अधिक है। ऐसे में सुरक्षाबलों के लिए ये काफी चुनौतीपूर्ण है कि वे अमरनाथ यात्रियों की सुरक्षा पुख्ता करें।

loading...