राहुल गाँधी बोले बहन पर मत जाओ, इस्तीफा देने की पकड़ी ज़िद

0

लोकसभा चुनाव 2019 में हुई भयानक हार के बाद से कांग्रेस में अध्यक्ष-मंथन जारी है. शनिवार को राहुल गाँधी ने लोकसभा हार से अत्यंत निराश होकर कांग्रेस कार्यसमिति की बैठक में इस्तीफे की पेशकश की.

 

लेकिन इस बैठक में इस इस्तीफे को मजबूती से नकार दिया गया. मनमोहन सिंह, प्रियंका गांधी, पी. चिदंबरम जैसे कई बड़े नेता राहुल के इस्तीफे के खिलाफ खड़े हो गये.
सूत्रों से खबर है कि राहुल अभी भी इस्तीफा देने की जिद पर अड़े हुए हैं. राहुल के इस्तीफे पर एक वरिष्ठ कांग्रेस नेता ने कहा कि उनकी जगह कोई और नहीं ले सकता. इस पर राहुल गाँधी ने कहा, ‘हम ही क्यों?’ उन्होंने कहा कि कांग्रेस अध्यक्ष होने का हक किसी भी कांग्रेस कार्यकर्ता को है.

 

CWC की इस बैठक में राहुल ने डंके की चोट पर कहा कि अध्यक्ष पद की जिम्मेदारी किसी और को संभालनी चाहिए.

लेकिन जब प्रियंका गांधी का नाम सामने आया तो राहुल बोले, ‘मेरी बहन को इसमें मत खींचो.’

राहुल ने बैठक में कहा, ‘हमें अपनी लड़ाई को जारी रखना होगा. मैं कांग्रेस का अनुशासित सिपाही हूं और रहूंगा और बिना किसी डर के लड़ता रहूंगा और इसके लिए मुझे पार्टी का अध्यक्ष बने रहने की ज़रूरत नहीं. उन्होंने कहा नया अध्यक्ष नॉन गांधी होना चाहिए.’

वरिष्ठ नेताओं ने पार्टी से पहले अपने बेटों के हित को रखा

सूत्रों के हिसाब से राहुल गांधी ने कहा कि पार्टी के वरिष्ठ नेताओं ने पार्टी से पहले अपने बेटों के हित को रखा. उन्‍होंने कहा कि राजस्‍थान के मुख्‍यमंत्री अशोक गहलोत, मध्‍य प्रदेश के मुख्‍यमंत्री कमलनाथ और वरिष्‍ठ नेता पी चिदंबरम ने पार्टी हित से पहले पुत्र-हित को आगे रखा.

 

पार्टी के लिए कोई भी फैसला लेने की छूट

इस पर कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी का कहना है कि राहुल को कुछ समय दिया जाना चाहिए जिससे किसी अन्य वैकल्पिक प्लान के बारे में सोचा जा सके. प्रियंका ने  राहुल के इस्तीफा देने को बीजेपी के जाल में फंसना बताया. हालांकि, कांग्रेस कार्यसमिति ने राहुल के इस्तीफे को अस्वीकार कर दिया और उन्हें बतौर अध्यक्ष पार्टी के लिए कोई भी फैसला लेने की छूट देने की बात कही.

इस बैठक में राहुल की मां सोनिया गांधी, बहन प्रियंका गांधी और पूर्व पीएम मनमोहन सिंह शामिल थे. हालांकि समिति की बैठक में मौजूद सदस्यों ने साफ किया कि उन्होंने राहुल के इस्तीफे को अस्वीकार कर दिया है. कांग्रेस प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने कहा, ‘ऐसे कठिन हालात में हमें राहुल गांधी के नेतृत्व की जरूरत है.’

loading...