पुलवामा जैसे हमले करने में हजार बार सोंचेंगे आतंकी, ये किलर ड्रोन करेगा सरहद की निगेहबानी

0

इस किलर ड्रोन से बढ़गी वायुसेना की ताकत। इसी साल रक्षा मंत्रालय ने इजरायल से 54 हैरॉप ड्रोन की खरीद को मंजूरी दी है। हैरॉप ड्रोन जिसे किलर ड्रोन कहा जाता है। अत्याधुनिक तकनीक से लैस किलर ड्रोन दुश्मन के हाई-वैल्यू मिलिट्री टारगेट को पूरी तरह से नेस्तनाबूद कर सकते हैं।

ये ड्रोन इलेक्ट्रो-ऑप्टिकल सेंसर से लैस होते हैं। जो विस्फोट करने से पहले हाई वैल्यू वाले सैन्य ठिकानों जैसे निगरानी के ठिकाने और रडार स्टेशनों पर निगरानी भी कर सकते हैं।

हैरॉप ड्रोन उर्फ़ किलर ड्रोन

हैरॉप ड्रोन की खासियत की बात करें तो-

  • ड्रोन रिमोट से ऑपरेट किया जा सकता है.
  • खुद दुश्मन के ठिकाने पर पहुंचकर टारगेट को तबाह कर सकता है.
  • दुश्मन के रडार को छकाने में सक्षम है.
  • आसमान में लगातार 6 घंटे तक उड़ान भर सकता है.

पाकिस्तान-चीन की सीमा पर तैनात किया जाएगा

आतंक के खिलाफ एक जुट हुए इंडिया-इस्राइल

भारत पहले से सेना में इजरायली ड्रोन का इस्तेमाल कर रहा है. जानकारों के मुताबिक हैरॉप ड्रोन को वायुसेना में शामिल करने से एयरफॉर्स की मारक क्षमता में इजाफा होगा। चीन और पाकिस्तान के सरहदों की बेहतर तरीके से निगेहबानी हो सकेगी।

loading...