आम चुनाव में सितारों की ‘ग्रैंड एंट्री’ को कितना फायदा कितना नुकसान?

0

गोरखपुर से दिल्ली तक स्टार उम्मीदवारों से भरा है ये लोकसभा चुनाव कोई बॉलीवुड से आकर किस्मत आजमा रहा तो कोई क्रिकेट पिच से आ कर जनता का प्यार परख रहा है ..ऐसे में ये कहना बिलकुल सही होगा कि अबकी बार स्टार वार से है सरकार ! दिनेश लाल यादव उर्फ निरहुआ, पूनम सिन्हा, गौतम गंभीर, हंसराज हंस. गौतम गंभीर, विजेंद्र सिंह..इस बार चुनावों में इन सितारों की किस्मत दांव पर लगी हुई है….इस बार का लोकसभा चुनाव सिर्फ मोदी सरकार के वादों और दावों की ही परीक्षा नहीं है…बल्कि ये चुनाव स्टार वॉर की भी परीक्षा है…चुनाव के नतीजे ये बताएंगे की आखिर जनता ने स्टार उम्मीदवारों पर कितना भरोसा जताया है. इस बार बीजेपी और कांग्रेस दोनों ही पार्टियों ने स्टार्स को उम्मीदवार बनाया था.

गोरखपुर से दिल्ली तक स्टार उम्मीदवार मैदान में थे.

गोरखपुर से बीजेपी ने रवि किशन को उम्मीदवार बनाया था..तो आज़मगढ़ से दिनेश लाल यादव ऊर्फ निरहुआ मैदान में थे. लखनऊ से समाजवादी पार्टी ने पूनम सिन्हा को टिक दिया था. बीजेपी ने पंजाब के गुरदासपुर से सनी देओल को टिकट दिया था. अगर बात दिल्ली की करें तो पूर्वी दिल्ली से बीजेपी से गौतम गंभीर मैदान में थे…तो गायक हंसराज हंस उत्तर पश्चिम दिल्ली से बीजेपी के उम्मीदवार बने, दक्षिण दिल्ली से कांग्रेस ने मुक्केबाज़ विजेंद्र सिंह को उम्मीदवार बनाया था.

जिस तरह से फिल्मी कलाकारों और खिलाड़ियों को चुनाव के टिकट दिए गए थे. वो भी बड़ी लोकसभा सीटों पर उससे सवाल ये उठता है कि क्या पार्टियों कों नेताओं से ज्यादा कलाकारों और खिलाड़ियों पर भरोसा है. इन चेहरों के ज़रिए पार्टियां सियासी जंग जीतने का ख़्वाब देख रही हैं…लेकिन क्या उनका ये दांव सटीक बैठ पाएगा और जनता कितना भरोसा करेगी ये अभी भी EVM में क़ैद है..

गोरखपुर लोकसभा सीट पर बीजेपी रवि किशन के भरोसे वापसी की उम्मीद कर रही है…बीजेपी को ये सीट उपचुनाव में गठबंधन के हाथों गंवानी पड़ी थी और अब बीजेपी को रविकिशन के सहारे वापसी के सपने संजो रही है. आज़मगढ़ सीट से अखिलेश यादव के सामने दिनेश लाल यादव उर्फ निरहुआ मैदान में हैं. 2014  में मोदी लहर के दौरान इस सीट से मुलायम सिंह यादव जीते थे और इस बार बीजेपी ने अखिलेश को चुनौती देने के लिए भोजपूरी स्टार को टिकट दिया था…

गठबंधन का कहना है की जीत अखिलेश यादव को ही मिलेगी बीजेपी ने जनता को बरगलाने के लिए फिल्मी कलाकारों और खिलाड़ियों को टिकट बांटे है…वहीं, पंजाब के गुरदासपुर से बीजेपी ने हाल ही पार्टी ज्वाइन किए सनी देओल को टिकट किया था..तो बीजेपी ने दिल्ली में हंसराज हंस को उम्मीदवार बनाया इस बार खिलाड़ियों ने भी सियासत की दुनिया में अपना परचम दिखाया जिनमें गौतम गंभीर, विजेंद्र सिंह शामिल हैं ऐस में सवाल ये है की क्या जनता वोट देते समय इन चीजों के बारे में सोचती है

अभिनेता से नेता बनने वालों की लंबी फेहरिस्त है, अगर कुछ चर्चित नामों की बात करें तो अमिताभ बच्चन, हेमा मालिनी, किरण खेर,धर्मेंद्र, गोविंदा, शत्रुध्न सिन्हा, राज बब्बर, जया बच्चन, कमल हासन, जयाललिता, एम करुणानिधी ने फिल्मी दुनिया से ही राजनीति की दुनिया में कदम रखा था. मंसूर अली खान पटौदी, चेतन चौहान, नवजोत सिंह सिद्धू, कीर्ति आजाद, मोहम्मद अजहरुद्दीन क्रिकेट की पिच से सियासत की पिच पर बल्लेबाज़ी कर चुके हैं और अब इसमें गौतम गंभीर का नाम भी शामिल हो गया है

अब देखना है की इस बार जनता इन कलाकारों और खिलाड़ियों को देश राष्ट्र की ज़िम्मेदारी सौंपती है..या फिर उन्हें ख़ारिज़ करती है….

loading...